Home steno dictation & matter Steno Website Daily News G.K. Latest Job Alert
Girl in a jacket



Your Text Hear



word is hear


Total Words : 0
Correct Words : 0
Wrong Words : 0
Speed : 0 WPM




Typing Kaise Sikhe। Typing सीखने का Easy तरीका

क्या आप Typing सीखना चाहते हैंया अपनी Typing Speed को बढ़ाना चाहते हैंतो निश्चिंत हो जाइये क्योंकि इस पोस्ट में दी गई जानकारी आपको टाइपिंग सीखने और टाइपिंग स्पीड को बढ़ाने में काफी मदद करेगी। 
 
 
टाइपिंग आना एक ऐसी कला हैजो आपकी योग्यता को बढ़ाता हैआप चाहे किसी भी क्षेत्र में नौकरी प्राप्त करना चाहते हों आपके लिए Typing आना हमेशा फायदेमंद साबित होता हैक्योंकि टाइपिंग को कई नौकरियों में जरुरी कौशल के तोर पर माँगा जाता है। 
 
 
वैसे भी सिर्फ नौकरी ही क्यों बल्कि टाइपिंग के आधार पर आप खुद का कार्य भी कर सकते हैफिर चाहे वह डाटा एंट्री का कार्य हो या दूसरों को भी यह कौशल सिखाने का।  
 
 
तो कहने का अर्थ हैकी टाइपिंग सीखने के अनेक फायदे हैंऔर यदि हमारे द्वारा बताये गए इन तरीकों और Rules को आप Follow करते हैंतो बहुत ही कम समय में आप भी काफी अच्छी टाइपिंग करने लगेंगेतो चलिए अब जानते हैं Typing Kaise Sikhe.

Typing Kaise Sikhe |Typing सीखने का सबसे Easy तरीका।

टाइपिंग सीखना शुरू करने से पहले आपको अपने दिमाग में यह बात बिठा लेनी है की टाइपिंग एक बहुत ही आसान Skill हैजिसे आप काफी जल्दी सीख सकते हैंबस इसके लिए आपको प्रतिदिन प्रैक्टिस करनी होगीवो भी ज्यादा नहीं बस दिन में घंटे और यदि ऐसा आप सिर्फ महीने करते हैंतो यकीन मानिये आप ठीक-ठाक Typing करने लगेंगे और धीरे-धीरे आपकी Typing Speed भी बेहतर हो जाएगी। 
 
 
किसी और को तेजी से टाइपिंग करते देखना हमेशा काफी मुश्किल लगता हैलेकिन यह उतना भी मुश्किल नहीं है बस आपको शुरुवात करने की आवश्यकता है। 
 
 
टाइपिंग सीखने के लिए कुछ महत्वपूर्ण बातें जिनका आपको ध्यान रखना है। 
 
 

Typing Tips In Hindi

  • टाइपिंग में आपका Sitting Position काफी महत्व रखता हैजिसके लिए आपको टेबल और कुर्सी का उपयोग करना चाहिए ताकि आप Comfortably सीधे बैठकर टाइपिंग शुरू कर सकें।  
     
     
  • सबसे पहले आप को कंप्यूटर के Keyboard में अपनी उंगलियों का स्थान पता होना चाहिए क्योंकि टाइपिंग में हर ऊँगली का स्थान और काम तैय होता हैयानि आपकी सभी उँगलियाँ टाइपिंग के दौरान Active रहती हैं। 

 


English Typing Tips In Hindi

 

  • अपनी उँगलियों को Home Row यानि की बोर्ड की मध्य पंक्ति में रखना हैयानि ASDF और JKLऔर अगर आप ध्यान से की बोर्ड पर नजर डालेंगे तो पाएंगे की F Key और J Key में उँगलियों को Position करने के लिए एक निशान भी उभरा होता हैजिसका मकसद यह होता है की आप बिना देखे ही बस छू कर कीबोर्ड पर अपनी उँगलियों की सही स्तिथि का अंदाजा लगा सकें। 
  • याद रहे की Home Raw (ASDF, JKL;) से ही टाइपिंग की शुरुवात की जाती है और उँगलियां टाइप करने के बाद इन्ही Keys में वापस आ जाती हैं।

 

  • अब आप Pulkit Education Academy की वेबसाईट पर मेन्‍यू में जाकर English Typing Lessons पर जाकर अभ्‍यास संख्‍या 1 का चयन करके START बटन दबा कर अभ्‍यास स्टार्ट कर सकते है  और आपको सामने (ASDF) दिखेगा जिसके लिए आप Home Raw (ASDF) दबाएंगे और अपने अंगूठे से स्‍पेस बटन दबाएंगे उसके पश्‍चात आपको (JKL;दिखेगा जिसके लिए आप Home Raw (JKL;) दबाएंगे और अपने अंगूठे से स्‍पेस बटन दबाएंगे, इसी प्रकार आप टाइप कर सकते हैं। पहले दिन सिर्फ दो Keys की ही प्रैक्टिस करनी हैयानि अपनी उँगलियों को Home Raw में रखना हैफिर निर्धारित ऊँगली से Key को Press करना है और  ऊँगली को वापस Home Raw में ले आना है।
     
     
  • इसी तरह से हर दिन नए Keys की प्रैक्टिस करनी है लेकिन याद रहे किसी भी ऊँगली से टाइप नहीं करना है बल्कि उस Key के लिए निर्धारित ऊँगली से ही टाइप करना है। उँगलियों की सही Position जानने के लिए आप Finger Position Chart डाउनलोड कर सकते हैं। 
     
     
  • टाइपिंग करते समय आपको कीबोर्ड की ओर नहीं देखना हैबल्कि Home Raw पर उँगलियाँ रखकर टाइप करना है और अपनी नजर स्क्रीन पर रखनी है। 
     
     
  • ऊपर बताए गए तरीके से प्रैक्टिस करने पर बहुत जल्द ही आपकी उँगलियाँ Keys पर Set हो जाएंगीऔर कुछ समय बाद खुद ब खुद ही सही Key पर जाने लगेंगी और आप सही Typing करने लगेंगे। 
     
     
  • एक बात का ध्यान रखना है की आपको टाइपिंग प्रैक्टिस धीरे-धीरे करनी है यानि स्पीड में प्रैक्टिस नहीं करनी हैजिससे आपकी Accuracy बढ़ेगी और जब एक बार आप सीख जाएंगे और एक्यूरेसी भी बेहतर हो जाएगी तो स्पीड कभी भी बढ़ाई जा सकती है।
     
     
  • अगर हमारे द्वारा बताए गए इन नियमों या सुझावों को आप अपनाते हैंतो निश्चित ही बहुत कम समय में आप अच्छी Typing करने लगेंगे। 
     
     
     

अंतिम शब्द

शुरू में टाइपिंग करना आपको बोर लग सकता है और आपकी उँगलियों में थोड़ा दर्द भी महसूस हो सकता हैक्योंकि काफी देर तक उँगलियों का एक ही स्थिति में रहने पर यह दर्द महसूस होता हैजो समय के साथ ठीक हो जाता है।
 
 
टाइपिंग सीखते वक़्त हमेशा Accuracy में विशेष ध्यान देंस्पीड बढ़ाने की कोशीश ना करें क्योंकि एक बार जब आपकी उँगलियाँ कीबोर्ड पर Set हो जाएँगी और खुद ब खुद ही चलने लगेंगी तो स्पीड भी बेहतर होने लगेगी।
 
 
हमें उम्मीद हैइस लेख को पढ़कर आपको जानकारी हो गई होगी की आप Typing Kaise Seekh Sakte Hainऔर लेख में बताए गए तरीकों को अपनाकर निश्चित ही आप बहुत ही कम समय में टाइपिंग सीख जाएँगे।

 

Hindi Typing Tips In Hindi

 

  • अपनी उँगलियों को Home Row यानि की बोर्ड की मध्य पंक्ति में रखना हैयानि SDFG और KL;' पर यानी अपनी उँगलियों की सही स्तिथि का अंदाजा लगा सकें। याद रहे की Home Raw (SDFG, KL;') से ही टाइपिंग की शुरुवात की जाती है और उँगलियां टाइप करने के बाद इन्ही Keys में वापस आ जाती हैं। 
     
     
     
  • अब आप Pulkit Education Academy की वेबसाईट पर मेन्‍यू में जाकर Hindi Typing Lessons पर जाकर अभ्‍यास संख्‍या 1 का चयन करके START बटन दबा कर अभ्‍यास स्टार्ट कर सकते है और आपको सामने (ेकहि) दिखेगा जिसके लिए आप Home Raw (SDFG) दबाएंगे और अपने अंगूठे से स्‍पेस बटन दबाएंगे उसके पश्‍चात आपको (श्‍यसा) दिखेगा जिसके लिए आप Home Raw (KL;') दबाएंगे और अपने अंगूठे से स्‍पेस बटन दबाएंगे, इसी प्रकार आप टाइप कर सकते हैं। पहले दिन सिर्फ दो Keys की ही प्रैक्टिस करनी हैयानि अपनी उँगलियों को Home Raw में रखना हैफिर निर्धारित ऊँगली से Key को Press करना है और  ऊँगली को वापस Home Raw में ले आना है।
     
     
  • इसी तरह से हर दिन नए Keys की प्रैक्टिस करनी है लेकिन याद रहे किसी भी ऊँगली से टाइप नहीं करना है बल्कि उस Key के लिए निर्धारित ऊँगली से ही टाइप करना है। उँगलियों की सही Position जानने के लिए आप Finger Position Chart डाउनलोड कर सकते हैं। 
     
  • टाइपिंग करते समय आपको कीबोर्ड की ओर नहीं देखना हैबल्कि Home Raw पर उँगलियाँ रखकर टाइप करना है और अपनी नजर स्क्रीन पर रखनी है। 
     
  • ऊपर बताए गए तरीके से प्रैक्टिस करने पर बहुत जल्द ही आपकी उँगलियाँ Keys पर Set हो जाएंगीऔर कुछ समय बाद खुद ब खुद ही सही Key पर जाने लगेंगी और आप सही Typing करने लगेंगे। 
     
  • एक बात का ध्यान रखना है की आपको टाइपिंग प्रैक्टिस धीरे-धीरे करनी है यानि स्पीड में प्रैक्टिस नहीं करनी हैजिससे आपकी Accuracy बढ़ेगी और जब एक बार आप सीख जाएंगे और एक्यूरेसी भी बेहतर हो जाएगी तो स्पीड कभी भी बढ़ाई जा सकती है।
     

अंतिम शब्द

शुरू में टाइपिंग करना आपको बोर लग सकता है और आपकी उँगलियों में थोड़ा दर्द भी महसूस हो सकता हैक्योंकि काफी देर तक उँगलियों का एक ही स्तिथि में रहने पर यह दर्द महसूस होता हैजो समय के साथ ठीक हो जाता है।
 
 
टाइपिंग सीखने वक़्त हमेशा Accuracy में विशेष ध्यान देंस्पीड बढ़ाने की कोशीश ना करें क्योंकि एक बार जब आपकी उँगलियाँ कीबोर्ड पर Set हो जाएँगी और खुद ब खुद ही चलने लगेंगी तो स्पीड भी बेहतर होने लगेगी।
 
 
हमें उम्मीद हैइस लेख को पढ़कर आपको जानकारी हो गई होगी की आप Typing Kaise Seekh Sakte Hainऔर लेख में बताए गए तरीकों को अपनाकर निश्चित ही आप बहुत ही कम समय में टाइपिंग सीख जाएँगे।